भामाशाह पशु बीमा योजना 2022 ऑनलाइन पंजीकरण

भामाशाह पशु बीमा योजना के नाम से ही यह ज्ञात हो जाता है कि यह योजना पशुओं से सम्बंधित योजना हैं| आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे की यह भामाशाह पशु बीमा योजना क्या है? इस योजना का लाभ किस वर्ग के व्यक्तियों को उपलब्ध किया जाएगा? साथ ही इस योजना के आवेदन भरने के लिए आपको किन पात्रताओं को पूरा करना पड़ता है? तथा किन दस्तावेजों को आवेदन भरते समय अपलोड करना होता है?

पशु पालन आज कल ग्रामीण स्थानों पर बहुत ही अधिक किया जाता है| इस व्यवसाय से व्यक्ति को बहुत लाभ भी प्राप्त होता है| इसलिए इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने इस भामाशाह पशु बीमा योजना की शुरुआत कि है|

Table of Contents

भामाशाह पशु बीमा योजना क्या है?

भामाशाह पशु बीमा योजना

भामाशाह पशु बीमा योजना एक पशु बीमा योजना है| जिसके अंतर्गत किसानों या व्यक्ति के द्वारा पाले गए पशुओं का बीमा किया जाता है| एक किसान व्यक्ति अपने पशु पर बहुत पैसा खर्च करता है तथा उसकी देखभाल भी करता है| मौसम में बदलाव के कारण या और अन्य कारणों से पशुओं की मृत्यु हो जाती है| जिसके कारण ऐसे किसान जो कि एक बड़े स्तर पर या व्यवसायिक स्तर पर पशुपालन करते हैं| उन्हें एक बड़े रूप में आर्थिक हानि होती है|

इस भामाशाह पशु बीमा योजना कि शुरुआत इसी समस्या को दूर करने के लिए की गई है| इस योजना के तहत आवेदन करने के पश्चात् किसान व्यक्ति को एक भामाशाह कार्ड उपलब्ध किया जाता है| जिसकी मदद से वह अपने पशुओं की मृत्यु होने पर राजस्थान द्वारा चलाई गई इस योजना के अंतर्गत वित्तीय मदद प्राप्त कर सकते हैं|

इस भामाशाह पशु बीमा योजना को राज्य द्वारा तो निरंतर देखा जा रहा है परंतु केंद्र भी इस योजना के संचालन में मदद कर रही है| इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति ऑफलाइन तथा ऑनलाइन दोनों mode पर आवेदन कर सकता है| इस आवेदन कि पूरी प्रक्रिया के बारे में आपको आगे लेख में जानने को मिलेगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत पशुओं का बीमा

लेख के इस बिन्दु में हम स्पष्ट रूप से आपको यह बताएँगे की इस योजना के तहत किन पशुओं का बीमा कितनी राशि में करवाया जा सकता है|

  • एक पशुपालक व्यक्ति इस भामाशाह पशु बीमा योजना के अंतर्गत अधिकतम 5 पशुओं का बीमा करवा सकता है, इससे अधिक पशुओं का बीमा वह नहीं करवा सकता है|
  • आवेदक व्यक्ति के पास ये एक दुधारू (दूध देने वाली गाय) हो तो वह इस गाय का 40,000 रूपए का बीमा करवा सकता है|
  • यदि पशुपालक व्यक्ति के पास ऊंट, घोडा आदि हैं तो वह 50,000 रूपए तक का अधिकतम बीमा करवा सकता है|
  • एक दूध देने वाली भैंस का बीमा 50,000 रूपए तक करवाया जा सकता है|
  • यदि पशुपालक व्यक्ति के पास पशुओं में भेड़, सूअर या बकरियां होंगी तो उनका बीमा केटल यूनिट के हिसाब से माना जाएगा| मतलब 50 पशुओं (भेड़, सूअर, बकरियां) का बीमा करवाया जा सकता है| 10 बकरियों को 1 पशु के रूप में माना जाएगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के अंतर्गत जमा करने वाला प्रीमियम

यहाँ पर हम आपको बताएँगे कि व्यक्ति को इस भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत किस वर्ग के व्यक्ति को कितना प्रीमियम भरना होगा| नीचे दिए गए सभी बिन्दुओं को कृपया कर ध्यानपूर्वक पढ़िएगा|

  • जितने भी SC/ST या BPL वर्ग के भेड़ पशुपालक हैं, उन्हें 80 प्रतिशत का अनुदान दिया जायेगा| साथ ही सामान्य वर्ग (General Category) के पशुपालक व्यक्ति को 70 प्रतिशत का अनुदान उपलब्ध किया जायेगा|
  • इस बीमा राशि पर GST का भुगतान पशुपालक व्यक्ति द्वारा ही किया जाएगा|
  • जितने भी पशुपालक व्यक्ति ऐसे हैं, जो कि सामान्य वर्ग के हैं और उन्होंने इस भामाशाह पशु बीमा के तहत आवेदन किया है| उन्हें इस बीमा प्रिमियम भुगतान में 50 प्रतिशत कि राहत दी जायेगी|
  • कोई पशुपालक व्यक्ति यदि अपनी दूध देने वाली गाय का 330 रूपए वाली प्रीमियम राशि का बीमा लेता है तो इस प्रीमियम राशि के तहत उस व्यक्ति को 40,000 रूपए का बीमा उपलब्ध किया जाएगा| साथ ही इसमें उसे 70 प्रतिशत की राहत भी दी जाएगी|
  • इस योजना के अंतर्गत यदि पशुपालकों को अपने भैंस का बीमा लेना हो तो उसे 688 रूपए का कि राशि को जमा करना होगा| यदि पशुपालक को अपनी गाय का बीमा लेना हो तो उस व्यक्ति को 550 कि राशि को जमा करना होगा|
  • जितने भी SC/ST या BPL पशुपालक व्यक्ति हैं उन्हें यदि अपने भैंस पशु का बीमा करवाना है, तो उस पशुपालक व्यक्ति को 413 रूपए की राशि का प्रीमियम भरना होगा| इस प्रीमियम राशि पर 50,000 रूपए का बीमा किया जाएगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत पशुओं का बीमा किस प्रकार से किया जाएगा?

हम आपको इस योजना के तहत अपने पशु का बीमा किस प्रकार करवाए यह क्रमबद्ध तरीके से बताएँगे|

  • सबसे पहले पशुपालक व्यक्ति को इस बीमा का लाभ लेने के लिए अपने स्थान के नजदीकी किसी भी पशु चिकित्सालय में जाना होगा|
  • इस पशु चिकित्सालय में आपको कुछ सरकारी अधिकारी दिखाई देंगे|
  • आपको उनसे कहना होगा की आपको अपने द्वारा पाले गए पशुओं का बीमा करवाना है|
  • इसके पश्चात् पशु चिकित्सालय के कुछ अधिकारी आपके घर आयेंगे|
  • घर पर आने का कारण यह है कि वह आपके पशु के स्वाथ्य का पूरी तरह से परिक्षण करेंगे| जांच करने के बाद वह आपको आपके पशु का एक स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी करेंगे|
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पशुपालक यानी आवेदक व्यक्ति के पास उसका भामाशाह कार्ड तथा उसका अपना बैंक खाता होना आवश्यक है|
  • जांच करने के दौरान पशु के कान में एक पहचान टैग लगाया जाएगा|
  • आवेदक व्यक्ति (पशुपालक) व्यक्ति तथा पशु जिसका बीमा करवाना है दोनों की एक फोटो साथ में भी ली जाती है|
  • इसके बाद पशुपालक व्यक्ति को इस भामाशाह पशु बीमा योजना का लाभ उपलब्ध किया जाता है| यानी इस बीमा policy को पशुपालक व्यक्ति को जारी कर दिया जाता है|
  • पशु के कानों में जिस टैग को लगाया गया है यदि किसी कारणवश वह गिर जाता है या कहीं खो जाता है तो पशुपालक व्यक्ति को पशु चिकित्सालय को सूचित करना होगा| इसके बाद वह दोबारा से उस पशु को टैग लगायेंगे|
  • भामाशाह कार्ड धारक व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत अपने 5 पशुओं की बीमा policy लेने का लाभ उपलब्ध होगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के लाभ क्या है?

यहाँ हम आपको बताएँगे कि एक पशुपालक व्यक्ति को इस भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत किन परिस्तिथियों में इसका लाभ दिया जायेगा|

  • यदि किसी क्षेत्र में कोई प्राकृतिक आपदा आ गई हो जिसके कारण पशुपालकों के पशुओं कि मृत्यु हो गई हो| इस योजना के अंतर्गत इस आपदा क्षेत्र के जितने भी पशुपालकों ने आवेदन किया है| उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा|
  • पशुपालक के पशु के साथ यदि कोई दुर्घटना घट गई हो और उस दुर्घटना में उसकी मृत्यु हो गई हो, ऐसी स्थिति में भी पशुपालक व्यक्ति को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा|
  • पशुपालक व्यक्ति के पशु को यदि किसी कारण से करंट लग जाता है और इस करंट लगने से उस पशु की मृत्यु हो जाती है, तो भी उसे इस बीमा का लाभ दिया जाता है|
  • किसी भी बीमारी के कारण यदि पशु कि मृत्यु हो जाती है तो भी उसे इस योजना का लाभ उपलब्ध किया जाएगा|
  • किसी तरह कि आग लग जाने के कारण उसमे पशु की मृत्यु हो जाती है तो भी इस भामाशाह पशु बीमा योजना का लाभ पशुपालक व्यक्ति को दिया जाएगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के मुख्य उद्देश्य क्या हैं?

Rajsthan.PNG

  • इस सरकारी योजना के शुरूआती समय में ही इस योजना का लाभ कम से कम 1 लाख पशुओं को देने का लक्ष्य रखा गया था|
  • जितने भी पशुपालक व्यक्ति ऐसे हैं, जो कि अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग से आता हैं उन्हें इस योजना का विशेषतौर पर लाभ प्रदान किया जाएगा|
  • पशुपालक व्यक्तियों के पशुओं कि मृत्यु हो जाने पर उन्हें एक आर्थिक मदद/मुआवजा प्रदान करना भी इस योजना का मुख्य उद्देश्य है|
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर पशुपालक व्यक्ति अपनी स्थिति को सुधार सकता है|

किस कारण पशु की मृत्यु होने पर दी जायेगी यह बीमा राशि और किस परिस्थिति में यह बीमा राशि आवेदक को नहीं दी जायेगी?

कुछ कारणों के बारे में हमने आपको ऊपर बताया है| ऊपर दिए गए सभी मृत्यु कारणों पर पशुपालक/आवेदक व्यक्ति को इस योजना का लाभ प्राप्त होता है|

यहाँ हम आपको यह भी बताएँगे कि किन मृत्यु की स्थितियों में इस योजना का लाभ पशुपालक व्यक्ति को नहीं दिया जाएगा|

  • यदि पशु की मृत्यु आपके किसी लापरवाही की वजह से या फिर पशुपालक ने जानबूझकर अपने पशु को हानि पहुंचाने का प्रयास किया है| इस स्थिति में उस पशुपालक व्यक्ति को इस भामाशाह पशु बीमा का लाभ नहीं दिया जाएगा|
  • पशुपालक व्यक्ति के पशु को यदि किसी ने चुरा लिया है या वह कहीं खो गए तो इस स्थिति में भी इस योजना का लाभ पशुपालक को नही उपलब्ध किया जाएगा|
  • आवेदनकर्ता व्यक्ति ने यदि अपने पशु को छिप कर बेंच दिया है तो भी उसे इस बीमा योजना का लाभ नही दिया जाएगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत आवेदन करने के लिए व्यक्ति को किन पात्रताओं को पूरा करना आवश्यक है?

नीचे हम आपको बताएँगे कि आपको इस भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत आवेदन करने के लिए कौन-कौन सी पात्रताओं को पूरा करना आवश्यक होता है| दी गई सभी पात्रताओं को यदि व्यक्ति पूरा नहीं करता है तो वह इस योजना का लाभ पाने के लिए पात्र नहीं माना जायेगा|

  • भामाशाह पशु बीमा योजना का लाभ केवल राजस्थान राज्य के मूल पशुपालक निवासियों को ही दिया जायेगा|
  • जिन भी राजस्थान पशुपालक व्यक्तियों को इस योजना का लाभ चाहिए उस व्यक्ति के पास उसका भामाशाह कार्ड का होना अनिवार्य होता है|
  • अनुसूचित जाति जन जाति के व्यक्तियों को भी इस योजना का का विशेषतौर पर लाभ दिया जाएगा|
  • राजस्थान राज्य के जितने भी पशुपालक व्यक्ति ऐसे हैं, जो की महात्मा गांधी national रूलर रोजगार गारंटी act 2005 के अंतर्गत पंजीकृत परिवार हैं| उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना के तहत आवेदन करने के लिए सभी जरूरी दस्तावेज

दिए गए सभी दस्तावेजों का पशुपालक व्यक्ति के पास होना जरूरी है| क्यूंकि आवेदन भरते समय इन सभी दस्तावेजों को जमा या अपलोड करने कि आवश्यकता पड़ती है|

  • पशुपालक व्यक्ति का मूल निवास प्रमाण पत्र|
  • यदि आवेदनकर्ता व्यक्ति अनुसूचित जाति जनजाति का है, तो उस व्यक्ति का जाति प्रमाण पत्र|
  • आवेदनकर्ता व्यक्ति का आधार कार्ड
  • पशुपालक आवेदनकर्ता व्यक्ति का भामाशाह कार्ड
  • पशुपालक व्यक्ति तथा पशु की फोटो (पशु के कान में लगे नंबर टैग के साथ)
  • व्यक्ति का बैंक खाता विवरण

इस योजना के ऑफलाइन आवेदन किस प्रकार भरें?

  1. इस योजना के ऑफलाइन आवेदन करने के लिए व्यक्ति को सर्वप्रथम अपने नजदीकी किसी भी पशु चिकित्सालय में जाना होगा|
  2. वहां पर जाने के बाद वह आपको पशु बीमा योजना का एक आवेदन फॉर्म देंगे|
  3. अब आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को भरना होगा|
  4. साथ ही आपको कुछ मांगे गए अनिवार्य दस्तावेजों को भी इस आवेदन फॉर्म के साथ संकिलित (Attach) करना होगा|
  5. अपने द्वारा भरी गई जानकारियों को आवेदन फॉर्म जमा करवाने से पहले एक बार अवश्य जांच लें|
  6. इसके बाद आपको अपने द्वारा भरे हुए आवेदन फॉर्म को पशु चिकित्सालय विभाग में जाकर जमा करवाना होगा|
  7. अब आपके आवेदन फॉर्म का सत्यापन (Verification) किया जाएगा|
  8. सही ढंग से वेरिफिकेशन हो जाने के बाद आपको इस बीमा policy का लाभ उपलब्ध किया जाएगा| आपके पशुओं का बीमा सफलतापूर्वक हो जाएगा|

इस योजना के ऑनलाइन आवेदन किस प्रकार भरें?

यदि व्यक्ति इस भामाशाह पशु बीमा योजना के आवेदन ऑनलाइन करता है तो वह घर बैठे-बैठे यह आवेदन कर सकता है| उसको किसी भी पशु चिकित्सालय में जाने की और किसी भी प्रकार के आवेदन फॉर्म को प्राप्त करने कि आवश्यकता नही होती है|

नीचे हम आपको कुछ आसान से चरणों में यह बताएँगे कि इस भामाशाह पशु बीमा योजना के ऑनलाइन आवेदन आप किस प्रकार से कर सकते हैं|

  1. पशुपालक आवेदक व्यक्ति को इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले इस योजना की अधिकारिक website पर जाना होगा|
  2. जैसे ही व्यक्ति भामाशाह पशु बीमा योजना की अधिकारिक website पर क्लिक करता है, वह इसके होम पेज पर पहुँच जाएगा|
  3. होम पेज पर आने के बाद व्यक्ति को ‘पशु बीमा योजना आवेदन करें’ का एक विकल्प दिखाई देगा|
  4. आपको इस विकल्प को चुनना होगा|
  5. जैसे ही व्यक्ति इस विकल्प को चुनता है उसक स्क्रीन पर एक आवेदन फॉर्म आ जाएगा|
  6. आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को भरना होगा|
  7. इसके बाद मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड भी करना होगा|
  8. इस प्रकार से व्यक्ति इस भामाशाह पशु योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेगा|

संपर्क जानकारी (Contact Details)

इस लेख में इस भामाशाह पशु बीमा योजना से जुडी सभी जानकारियाँ हमने आपको दे दीं हैं| यदि इसके पश्चात् भी आपकी कोई पूछताछ है या आप कोई अन्य जानकारी को जानना चाहते हैं तो आप नीचे दिए mail पर mail भेज सकते हैं| साथ ही टोल फ्री नंबर पर कॉल कर बात भी कर सकते हैं|

हेल्पलाइन नंबर – 0141-2731710 Mobile Number – 9001531892

Email – dilipgupta@uiic.co.in

निष्कर्ष (Conclusion)

भामाशाह पशु बीमा योजना के विषय पर यह लेख लिख इस योजना से सम्बंधित सभी जानकारियाँ हमने आपको बहुत ही सरल ढंग से समझा दी हैं| इस योजना का लाभ किस वर्ग के व्यक्ति तथ किस प्रक्रिया का पालन कर उठा सकते हैं| यह सभी जानकारियाँ इस लेख द्वारा आपको मिल गई होंगी| पशु पालन एक बहुत ही अच्छा व्यापार है| परन्तु इस व्यापार में नुकसान होने कि भी बहुत अधिक संभावना रहती है|

हमे यह उम्मीद है कि हमारे द्वारा लिखे गए इस लेख से आपको इस योजना से जुडी सभी जानकारियों के बारे में सटीक ढंग से पता चल गया होगा| इसके पश्चात् भी यदि आपके कुछ प्रश्न इस लेख से जुड़े आप हमसे पूछना चाहते हैं, तो comment द्वारा अवश्य पूछ सकते हैं| या फिर आप हमे लेख से जुड़े कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो भी comment box द्वारा साझा कर सकते है|

यह भी पढ़ें |

Leave a Comment